toolbar powered by Conduit

Pages

Welcome To Kesarwani samaj Online Magazine केसरवानी ऑनलाइन पत्रिका में आपका हार्दिक स्वागत है पत्रिका के सभी पाठकों को होली की हार्दिक शुभ कामनाएं
श्री गणेशाय नमः


Sunday, October 12, 2008

प्रेरणादायक कुछ सदविचार

"होठों पर मुस्कान हर मुश्किल को आसान कर देती है"

"आत्मोन्नति के लिए यदि अधिक से अधिक समय लगायें तो दूसरों की आलोचना करने का समय नही मिलेगा "

"जीवन एक नाटक है , यदि हम इसके कथानक को समझ ले तो सदैव प्रसन्न रह सकते है।"

"आयु बढ़ने से या दुर्घटना से सुन्दरता नष्ट हो सकती है पर आत्मिक सुन्दरता कभी नष्ट नही होती है"


"आज समाज, राष्ट्र व् विश्व की सबसे जटिल समस्याओं का एकमात्र हल है चरित्र निर्माणचरित्र बिगड़ जाने पर कोई प्रतिष्ठा बाकी नही रहती "

"जब आप क्रोधित होतें है तो आपकी सारी शक्ति नष्ट हो जाती है, अतः शक्ति का प्रयोग बुद्धिमता से करे।"

"यदि आप अकेले है तो आपका कोई महत्व नही, परन्तु यदि आप संगठन मे स्नेहशील, रमणीक, सहयोगी होकर रहते हैं तो आप मूल्यवान है। "

"मीठा बोलने मे एक कौडी भी नही खर्च होती है फ़िर कंजूसी क्यों? सदा प्रेमयुक्त, मधुर, सत्यवचन बोलें।"

"जो प्रेम किसी को क्षति पहुंचाए वह प्रेम है ही नहीं।"

"अपने क्षत्रु से छुटकारा पाने का सबसे सरल उपाय यह है की उन्हें अपना मित्र बना लीजिये।"

"जब प्रगति होती है तो परिवर्तन स्वभाविक हैयदि आप परिवर्तन से डरते हैं तो उन्नति कैसे हो सकती है?"


2 comments:

poonam said...

होठों पर मुस्कान हर मुश्किल को आसान कर देती है"



"आत्मोन्नति के लिए यदि अधिक से अधिक समय लगायें तो दूसरों की आलोचना करने का समय नही मिलेगा "

"जीवन एक नाटक है , यदि हम इसके कथानक को समझ ले तो सदैव प्रसन्न रह सकते है।"

"आयु बढ़ने से या दुर्घटना से सुन्दरता नष्ट हो सकती है पर आत्मिक सुन्दरता कभी नष्ट नही होती है"


"आज समाज, राष्ट्र व् विश्व की सबसे जटिल समस्याओं का एकमात्र हल है चरित्र निर्माण । चरित्र बिगड़ जाने पर कोई प्रतिष्ठा बाकी नही रहती "

"जब आप क्रोधित होतें है तो आपकी सारी शक्ति नष्ट हो जाती है, अतः शक्ति का प्रयोग बुद्धिमता से करे।"

"यदि आप अकेले है तो आपका कोई महत्व नही, परन्तु यदि आप संगठन मे स्नेहशील, रमणीक, व सहयोगी होकर रहते हैं तो आप मूल्यवान है। "

"मीठा बोलने मे एक कौडी भी नही खर्च होती है फ़िर कंजूसी क्यों? सदा प्रेमयुक्त, मधुर, व सत्यवचन बोलें।"

"जो प्रेम किसी को क्षति पहुंचाए वह प्रेम है ही नहीं।"

"अपने क्षत्रु से छुटकारा पाने का सबसे सरल उपाय यह है की उन्हें अपना मित्र बना लीजिये।"

"जब प्रगति होती है तो परिवर्तन स्वभाविक है। यदि आप परिवर्तन से डरते हैं तो उन्नति कैसे हो सकती है?"

Bipin Kesarwani, Hyderabad said...

very nice and great thoughts............. Bipin Kesarwani,Hyderabad